Articles by "नानपुर"

नानपुर लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

अलीराजपुर। न्यायालय विहित प्राधिकारी, पंचायत राज अधिनियम एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी ने ग्राम नानपुर निवासियों द्वारा ग्राम पंचायत सरपंच, सचिव पर विभिन्न मामलों में शिकायत की गई थी। उक्त शिकायतों की जांच और प्राप्त अभिमत तथा प्राप्त दस्तावेजों के आधार पर नानपुर संरपच श्री समरथ मौर्य के विरूद्ध म.प्र. पंचायत राज एवं ग्राम स्वराज अधिनियम 1993 की धारा 40 के तहत कार्रवाई करते हुए श्री मौर्य को ग्राम पंचायत नानपुर के पद से पदच्युत करते हुए आगामी 6 वर्ष के लिए अयोग्य घोषित किये जाने के आदेश जारी किये है। 
        उक्त प्रकरण में ग्राम नानपुर निवासियों की शिकायत के आधार पर श्री सरंपच श्री मौर्य द्वारा दुकान निर्माण एवं आवंटन में तथा हितग्राही चयन में, निलामी तथा विज्ञप्ति की नियमानुसार प्रक्रिया का पालन नहीं किया गया। प्राप्त शिकायतों की जांच के आधार पर पाया गया कि श्री मौर्य ने म.प्र. पंचायत (स्थावर संपत्ति का अंतरण) नियम 1994 के नियम 5 का उल्लंघन करते हुए स्वेच्छाचारिता से दुकानों का अंतरण किया जो कि अपने पदीय कर्तव्यों के निर्वहन में घोर उपेक्षा की श्रेणी में आता है। जिसके चलते श्री त्यागी ने म.प्र. पंचायत एवं राज स्वराज अधिनियम 1993 की धारा 40 के तहत कार्रवाई करते हुए नानपुर सरपंच श्री समरथ मौर्य को ग्राम पंचायत नानपुर के पद से पदच्युत करते हुए आगामी 6 वर्ष के लिए अयोग्य घोषित करने के आदेश जारी किये है। साथ ही ग्राम पंचायत सचिव के विरूद्ध नियमानुसार कार्रवाई हेतु प्रस्ताव प्रस्तुत करने के आदेश सीईओ जनपद पंचायत अलीराजपुर को दिये है। 

[right-side]
अलीराजपुर जिले की हर ताज़ा अपडेट पाने के लिए हमारा Facebook पेज लाइक करें

अलीराजपुर। जिले में 24 गौवंशों की मौत के बाद हड़कंप मच गया है. जिले के नानपुर गांव की एक गौशाला में गुरुवार को अचानक एक के बाद एक गायों की तबीयत बिगड़ने लगी. इससे गौशाला में अफरातफरी मच गई. गौशाला को संभालने वाले लोगों ने गायों की तबीयत बिगड़ने पर तत्काल पशुचिकित्सकों को बुलाया. लेकिन उनके पहुंचने से पहले ही 24  गोवंशों की मौत हो गई. प्रारंभिक जांच के आधार पर माना जा रहा है कि सभी गोवंशों की मौत के पीछे फ़ूड पॉइजनिंग कारण हो सकता है. इतनी बड़ी संख्या में गायों की मौत के बाद प्रशासन हरकत में आया और पशुचिकित्सकों की टीम के साथ तहसीलदार व अन्य अधिकारी गोशाला पहुंचे. वहीं, ग्रामीणों का आरोप है कि किसी बड़ी साजिश के तहत इस घटना को अंजाम दिया गया है. 
पहले बिगड़ी तबीयत, फिर हो गई मौत 
दरअसल, अलीराजपुर जिले के नानपुर गांव की गोपाल गौशाला में गुरुवार सुबह अचानक 24 गौवंशों की तबीयत बिगड़ गई. एक के बाद एक गायों की तबियत बिगड़ने की सूचना गौशाला के समिति सदस्यों को मिली तो, आननफानन में पशुचिकित्सकों को खबर की गई. कुछ ही देर में तबीयत बिगड़ने के साथ ही अचानक गायों की मौत होने लगी और देखते ही देखते 24 गौवंश की मौत हो गई. इतनी बड़ी संख्या में गायों की मौत के बाद प्रशासन भी सकते में आ गया. पशुचिकित्सकों की टीम के साथ तहसीलदार व कई अधिकारी तत्काल गौशाला पहुंचे. प्राथमिक तौर पर जांच में पशुचिकित्सकों की टीम ने बताया कि गायों की मौत के पीछे फ़ूड पॉइजनिंग एक कारण हो सकता है. 
       हालाँकि डॉक्टरों ने पोस्टमोर्टम के बाद ही असल कारणों के खुलासे की बात कही है. वहीं, ग्रामीणों का आरोप है कि इस पूरी घटना के पीछे कोई षड्यंत्र हो सकता है. इतनी बड़ी संख्या में गौवंशो की मौत के बाद जिले के कई संगठनो में आक्रोश फैल गया है. घटना के बाद नानपुर गौशाला समिति के सदस्यों ने पुलिस में एफआईआर दर्ज कराकर जांच की मांग की है. 

अलीराजपुर प्रदेश सरकार द्वारा सहायता प्राप्त शेल्टर हाउस में 24 गायों की मौत-alirajpur-24-cows-dead-in-suspicious-way-incident-will-be-investigatedअलीराजपुर प्रदेश सरकार द्वारा सहायता प्राप्त शेल्टर हाउस में 24 गायों की मौत-alirajpur-24-cows-dead-in-suspicious-way-incident-will-be-investigated

More From Web

#ट्रेंडिंग

[random][carousel1 autoplay]

Asha News

{picture#YOUR_PROFILE_PICTURE_URL} YOUR_PROFILE_DESCRIPTION

संपर्क फ़ॉर्म

नाम

ईमेल *

संदेश *

Blogger द्वारा संचालित.